BREAKING NEWS

लो भइया बुलेट-ट्रेन तैयार, लफड़ा स्‍टॉपेज पर फंसा

रविवार, 04 जून 2017 | Admin Desk

लखनऊ : कहने की जरूरत नहीं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जापानी प्रधानमंत्री शिंजो को बनारस ले जाकर उन्हें बुलेट ट्रेन की सुविधाएं भारत में मुहैया कराने के लिए एड़ी चोटी का जोर लगा दिया था। नरेंद्र मोदी इस बुलेट ट्रेन को लेकर बेहद उत्साहित थे, और उनके उत्साह को देखते हुए शिंजो ने भी जापान का पैसा और टेक्नोलॉजी भारत में झोंक दी थी। यह युद्धस्‍तरीय कोशिशों के चलते ही बुलेट ट्रेन अब पूरी तरह तैयार है और उसका टाइम-टेबल वगैरह संपन्न हो चुका है। लेकिन खुद भाजपा के जौनपुर सांसद इस मामले में प्रधानमंत्री के इस सपने पर खुरचने पर आमादा लग रहे हैं।

इस बारे में भारत के मशहूर और विचित्र यंत्र विज्ञापन पत्र दैनिक हिंदुस्तान अखबार में अंदर खाने में चल रही करतूतों का खुलासा कर दिया है। बाकायदा एक पेज की स्‍टोरी छाप कर इस अखबार ने ऐलान कर दिया है कि बुलेट-ट्रेन अब समझो आयी, या तब आयी। हालांकि इस अखबार ने जो भी बातें कहीं है वह इशारे में ही है। लेकिन जिस तरह स्थानीय सांसद ने जौनपुर में इस ट्रेन का स्टॉपेज को लेकर एक पत्र नरेंद्र मोदी को भेज कर उसकी प्रति इस विचित्र-यंत्र विज्ञापन-पत्र हिन्‍दुस्‍तान दैनिक को विशेष तौर पर जारी की है,  उससे साबित हो रहा है कुछ ना कुछ दाल में काला ही है।

अरे परेशान मत हो। प्रतीक्षा की घडि़यां खत्‍म हो चुकी हैं। बुलेट ट्रेन के लिए शाही पटेरिया बिक चुकी है। अत्याधुनिक रेल डिब्बे पटरियों पर बिछ चुके हैं। चंद दिनों की बात है जब बंदूक की गोली की स्पीड को मात करती जापानी शैली की बुलेट ट्रेन बनारस से दिल्ली तक फर्राटा मारती दिखायी पड़ेगी।

मगर हैरत की बात है कि खुद भाजपा के ही स्‍थानीय सांसद इस मामले में फच्‍चड़-उंगली कर दी है। विज्ञापन-पत्र दैनिक हिन्‍दुस्‍तान में प्रकाशित एक खबर को लेकर कई जिलों के लोगों में आक्रोश भी है। उनका कहना है कि जब जफराबाद और पचहटिया में इस ट्रेन का स्‍टॉपेज तय हो चुका है, तो फिर जौनपुर को लेकर जिद करने का कोई औचित्‍य ही नहीं है। अगर भण्‍डारी पर स्‍टॉपेज नहीं मिल पा रहा है, तो उसमें क्‍या दिक्‍कत है। अगला स्‍टॉपेज तो अलीगंज ही है। इस बात को लेकर  भाजपा के जौनपुर के सांसद ने इस बारे में प्रधानमंत्री को एक पत्र भी भेज दिया है। इस चर्चा के बाद से ही इस विचित्र-यंत्र विज्ञापन-पत्र के लोगों ने आम आदमी के साथ चर्चाएं कर तय किया है कि सरकार को चेतावनी दी जाए कि अगर जौनपुर में इस बुलेट ट्रेन का स्‍टॉपेज जौनपुर में नहीं हुआ तो इसके गंभीर अंजाम हो सकते हैं।

आपको बता दें कि बुलेट ट्रेन योजना लगभग साकार हो चुकी है। आलीशान स्टेशन बंद कर तैयार हो चुके हैं। सुरक्षा सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद है व यार्ड बन चुके हैं। बुलेट-ट्रेन की पटरी दशाश्‍वमेध घाट से गोदौलिया से आगे ठठेरी बाजार की उस सर्राफा दूकान तक डबल बिछा दी गयी है, जहां हाल ही 16 करोड़ की लूट हुई थी।  जलेबी-कचौड़ी वहीं पर फ्री में मिलेगी। उसके बाद बुलानाला, बिसेसरगंज, इंग्लिशिया बाजार और कैंट, अधंरापुल, गिलटबाजार, से बाबतपुर और महादेव त्रिलोचन महादेव, जलालपुर, सिरकोनी और जफराबाद में ट्रायल पूरा हो चुका है। बाकी स्‍टॉपेज के लिए व्‍यवस्‍था बलुआघाट से होते हुए उर्दू बाजार, कोतवाली चौराहा, चहारसू होते हुए बदलापुर पड़ाव वाया ओलंदगंज तक बिछ चुकी हैं। सराय पोख्‍ता में इसका यार्ड बनेगा। इसके बाद यह काली कुत्‍ती होते हुए सारे कुत्‍तों के पास होते हुए कुतुआ पुर तक होते हुए मडि़याहूं में पारसनाथ यादव के पुराने मकान के पीछे से नौपेड़वा से आगे निकलेगी। फिर वह सिंगरामऊ में धनंजय सिंह के पेट्रोल पम्‍प में नाश्‍ता कराने के बाद हरपाल गंज रेलवे क्रासिंग में सन-04 में श्रमजीवी बम विस्‍फोट स्‍थल के स्‍मारक पर करीब दो घंटे तक मृतकों की याद में पुष्‍पांजलियां अर्पित करते हुए कोईरीपुर में विश्राम करेगी। उसके बाद लम्‍भुआ तथा पयागीपुर में आधा-आधा घंटा का स्‍टॉपेज लेते हुए यह ट्रेन लोनी कटरा के नाले पर साइट-साइन के लिए रूकेगी। भिलवल में चाय-पानी होगा। भोजन के लिए तीन अन्‍य स्‍थानों को भी चयनित किया गया है। अगला जलपान जगदीशपुर के पास इमलिया में होगा। लखनऊ की रेवड़ी और संडीला के लड्डू जैसे दर्शनीय स्‍थलों को तय किया जाएगा।

शाहजहांपुर के स्‍वामी चिन्‍मयानन्‍द आश्रम रेलवे स्‍टेशन पर बुलेट-ट्रेन में बैठी षोडषियों-युवतियों-महिलाओं को चिन्‍मयानन्‍द स्‍वामी हरी झंडी दिखा कर शाहजहांपुर में उनकी, अपनी और सब की सम्‍भावनाओं पर चर्चा भी करेंगे। अगला स्‍टॉपेज होगा बदायूं की साध्‍वी चिदर्पिता के अश्रु-विरोध-स्‍थल, जहां वे उस न्‍याय-देवी के तौर पर स्‍थापित की जाएंगी, जिस पर प्रशासनिक और सरकारी कोशिशों ने खासा कालिख पोत रखी होगी। तिलहर में तेल पेरने और आंवला में पतंजलि जूस की फैक्‍ट्री के पहले सुरमा नगरी में भी भ्रमण कराया जाएगा। रामपुर में आजमी यूनिवर्सिर्टी और मुरादाबाद का वाड्रा-परिसर भी दिखाया जाएगा। करीब पौन घंटे तक हापुड़ का पापड़ चखाने के बाद डासना जेल में बंद यूपी सरकार के बड़े-बड़े नेताओं और अफसरों के दर्शन-अर्चन की भी चौंचक ब्‍यौस्‍था की गयी है।

भ्रमण यात्रा के दौरान सारी मांग-मांगनियां बटोरेने के लिए लिंग-वर्द्धक विचित्र यंत्र विज्ञापन पत्र के समूह सम्‍पादक ने अपने सभी स्‍थानीय सम्‍पादकों को पत्र भेज कर सारे रिपोर्टरों को ताईद कर दी है। यह भी कहा गया है कि जो भी आउटपुट आयेगा, समूह सम्‍पादक उसे खुद प्रधानमंत्री के पास लेकर जाएंगे। लेकिन इस पूरे मामले में तय किया है कि जो भी भाजपा सांसद इस पूरे यात्रा-रूट में स्‍टॉपेज की मांग करेंगे, उन्‍हें इस योजना से अलग ही रख कर उपेक्षित ही रखा जाएगा। सम्‍पादक जी को प्रधानमंत्री से कह दिया है कि जो भी सांसद अपनी राय देना चाहता हो, वह या तो पार्टी मंच पर अपनी बात कहे। वैसे इस लिंग-वर्द्धक यंत्र विज्ञापन-पत्र के समूह सम्‍पादक जी प्रधानमंत्री जी से मिले गुरू-मंत्र के अनुरूप सभी के मन की बात समझने को समर्थ हो चुके हैं।

साभार- लेखक कुमार सौवीर, स्रोत मेरीबिटियाडाटकाम

आगे पढ़ें >>
  Page: 1 | 2 | 3 | 4 | 5 |   Next »    Last