BREAKING NEWS

जरूरत पड़ी तो जन समस्याओं के लिये जनांदोलन से नही हटूंगा पीछे- विजय मिश्र

सोमवार, 16 अक्टूबर 2017 | Admin Desk

गाजीपुर।जिले की जनता ने वर्ष 2014 और 2017 के लोक सभा और विधान सभा चुनाव में विकास के जिस उम्मीद के साथ भाजपा प्रत्याशियांे के पक्ष में फैसला सुनाते हुये उनको ताकत दी आज अफसोस के साथ कहना पड़ रहा है कि इनमें से किसी ने भी आज तक जनता से मिली उस ताकत का गाजीपुर के सर्वागीण विकास में उपयोग करना जरूरी नही समझा, सरकार में मै जनप्रतिनिधि रहते हुए अपने कार्यकाल में मैने विकास से जुड़ी कई महत्वाकांक्षी परियाजनाओं को स्वीकृत कराया बहुत सारे कार्य पूरे हुये कुछ शेष रह गये कोई ऐसा क्षेत्र नही था जिसमें गाजीपुर को विशेष उपलब्धि हासिल नही हुआ हो पर वर्तमान में विकास के सारे कार्य ठप पड़ें है। विकास का पहिया रूका होने से एक तरफ जहा जिले का मजदूर तबका बेकारी भूखमरी का दंश झेल रहा है वही दूसरी तरफ गाजीपुर के लोगो ने जिस सुन्दर गाजीपुर के निर्माण का सपना देखा था वो अभी अधुरा है, उक्त बाते आज स्थानीय नगर के सकलेनाबाद स्थित अतिथि होटल में पूर्व मंत्री विजय मिश्र ने कही। अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए श्री मिश्र ने कहा जनपद में बेहतर स्वास्थ्य सेवा के दृष्टिकोण से एक मेडिकल कालेज एवं विश्वविद्यालय की स्थापना आज जनपद की सबसे बड़ी जरूरत है जिसका लाभ हमारी आने वाली पीढ़ीयों उठायेगी, इसलिए आज मै इस प्रेस वार्ता के माध्याम से प्रदेश व केन्द्र सरकार से मांग करता हु कि पूर्वाचल सहित बिहार प्रान्त तक के मरीजों का दबाब झेल रहे बी0एच0यू0 को अविलम्ब एम्स का दर्जा देते हुये गाजीपुर में एक मेडिकल कालेज की स्थापना व एक विश्वविद्यालय का निर्माण कराया जाये। इसे अपनी प्रमुख माग बताते हुए उन्होने कहा कि जब तक ये कार्य पूरे नही होगे मै माग करता रहूगा और जरूरत पड़ी तो जनता के साथ जनान्दोलन करने में भी पीछे नही हटुगा। पिछली सरकार में मुझे जब सदर गाजीपुर का विधायक व प्रदेश सरकार में मंत्री बनने के बाद एक जनप्रतिनिधि के रूप में जिले का विकास व जनता सेवा का एक बड़ा दायित्व मुझे मिला मैने पूरी गम्भीरता से इस अति पिछड़े जनपद में क्षेत्र के विकास व आमजन के सुख सुविधा से जुड़ी छोटी से छोटी जरूरतों को चिन्हित करते हुए उन्हे विकास की मुख्य धारा से जोडकर कैसे एक सुन्दर विकसित गाजीपुर का निर्माण हो अपनी क्षमता के अनुसार ईमानदारी व निष्ठा से अपना प्रयास शुरू कर दिया इस क्रम में सरजू पाण्डेय पार्क के सुन्दरीकरण, आधुनिक स्वास्थ्य एवं चिकित्सा सुविधाओं से युक्त 200 शैयया वाले पुरूष अस्पताल, 100 बेड का महिला अस्पताल, विद्युत अपूर्ति सुधार के लिए विधायक निधि से 6 मोबाईल ट्राली ट्रासफार्मर की उपलब्धता, रायपुर सिरगिथा, करण्डा, लोटन ईमली क्षेत्र में 33/11 के0वी0ए0 के तीन नये विद्युत उपकेन्द्रों की स्थपना, अर्थिक कमजोर परिवारों के मांगलिक कार्यक्रमों की आयोजन हेतु विधायक निधि से नगर के बौड़हिया, रामलीला हाता नवाबगंज, चित्रगुप्त मन्दिर ददरीघाट, सहित मस्तान बाबा बेदौली, लाला बाबा बीरापाह स्थानों पर सामुदायिक भवनों की स्थापना, राजकीय बालिका विद्यालय महुआबाग एवं लाल बहादुर शास्त्री वाचनालय स्टेशन रोड में पुस्तकालय की स्थापना, ग्रामीण क्षेत्रों में आवागमन से दृष्टिकोण से महत्वपूर्ण नदियों, नलों पर पुल/पुलियों का निर्माण जिसमें मुख्य रूप से मानिकपुर कोटे गांगी नदी पर, बुढौली-नैसारा गंागी नदी, पड़री-सुजनीपुर खरारी नदी पर, बबेड़ी-भुताहियाटाड़ नाले पर, जाटपुर-धितुआ नाले पर, बुढ़नपुर नहर पर, नबाबगंज नाले पर, सोकनी हरिजन बस्ती के पास पोखरी पर, पवहारी बाबा मन्दिर के पास नाले पर, आईना कोठी पत्थरघाट नाले पर ,ढेलवां-जमला-आंकुशपुर नाले पर नये सेतु एवं पुलियों का निर्माण, इसके अतिरिक्त क्षेत्र के कई महत्वपूर्ण सड़कों का जिसमें प्रमुख रूप से गाजीपुर-चोचकपुर, नन्दगंज-चोचकपुर मार्ग का चैड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण सहित छोटी-बड़ी दुरी वाले सैकड़ों सम्पर्क मार्गों का नवनिर्माण, विशेष मरम्मत आदि कार्य कराये गये, अधिवक्ताओं एवं वादकारियों के सुविधा के दृष्टिगत सिविल एवं कलेक्ट्रेट बार एसोसिएशन परिसर मेें सामुदायिक भवनों के निर्माण कार्य को पूर्ण कराने के साथ ही जनपद के युवा खिलाड़ियों एवं खेल प्रेमियों के लिए एक तरफ जहा मैने ग्रामरण क्षेत्र तुरना बड़हरा स्थित के0एस0एस0 स्टेडियम में दर्शक दीर्घा का निर्माण कराया वही नगर स्थित स्वामी सहजानन्द महाविद्यालय में क्रिकेट खिलाडियों के लिए टर्फ कोर्ट पीच का बनवाया इतना ही नही इसके अतिरिक्त आधुनिक खेल एवं प्रशिक्षण सुविधाओं से युक्त स्टेडियम जिले की सबसे बड़ी जरूरत थी इसे देखते हुए मैने स्टेडियम निर्माण को मूर्त रूप दिलाने के उद्देश्य से तत्कालीन सरकार के समक्ष प्रबलता के साथ अपना पक्ष रखता रहा कैबिनेट से मंजूरी मिली व धन भी अवमुक्त हुआ परन्तु ठीक उसी समय 2017 विधान सभा चुनाव एवं आदर्श आचार संहिता के कारण कार्य लम्बित हो गया। मुझे यह कहते हुए खुशी हो रही है कि गाजीपुर के खेल प्रतिभाओं के साथ मैंने जिस स्टेडियम का सपना देखा था वर्तमान पुनः सरकार की मंजूरी मिलने के बाद हम सबके इस ड्रीम प्रोजेक्ट के पूर्ण होने का मार्ग प्रशस्त हुआ है फलस्वरूप शीघ्र ही जिले के खिलाड़ी इसमंे स्तरीय शिक्षण व प्रशिक्षण प्राप्त कर जनपद का मान व गौरव बढ़ा सकेगें। क्षेत्र को विकास की मुख्य धारा से जोड़ने के अतिरिक्त सम्मानित जनता के प्रति एक जनप्रतिनिधि के रूप में अपनी जवाबदेही तय करते हुए एक तरफ जहा मैंने क्षेत्र व जनता के बीच सर्वाधिक समय बीताने का काम किया वही दूसरी तरफ समाजिक सुरक्षा की दिशा मंे जरूरतमंदो को पेंशन, गम्भीर असाध्य रोगियों को सरकारी सहायता व निःशक्त वृद्ध बुजूर्गांे को श्रवण यात्रा के माध्याम से तीर्थांटन कराकर उन्हे सम्मान देने का कार्य किया गया मेरे इन सभी कर्यों व प्रयासों मे यहा की जनता ने हमेशा मेरा मनोबल बढ़ाने का काम किया व अपनी तरफ से भरपूर सहयोग भी दिया।

आगे पढ़ें >>
  Page: 1 | 2 | 3 | 4 | 5 | 6 | 7 | 8 | 9 | 10 |   Next »    Last