BREAKING NEWS

जीना इसी का नाम है उर्फ़ मृत्यु के बाद का जीवन!

शुक्रवार, 05 जनवरी 2018 | Admin Desk

✒️ लेखक: तौसीफ़ गोया

पापा की दोनों आंखे सफ़ेद गोली जैसी लग रही थीं. महिला डॉक्टर ने पापा के शरीर से आंखें निकाल कर अपने साथ लाए डिब्बे में रख दीं. डॉक्टर बोलीं- कल तक आपके पापा की आंखें दो लोगों को लगा दी जायेंगी. पापा का पूरा शरीर मेडिकल कालेज को दान दे दिया गया था.

कोई पंडित नहीं, कोई आडम्बर नहीं. मां और बहनें, पापा के देहदान के फैसले से सहमत थीं. मंझली बहन का परिवार उत्तर प्रदेश का कर्मकांडी परिवार है, उन्होंने हल्के-फुल्के ढंग से बोला कि आत्मा की शान्ति नहीं होगी. मैंने उन्हें समझाया कि आत्मा, रूह वगैरह वहम हैं.

1942 में भारत छोड़ो आंदोलन में जब गांधी जी ने 'करो या मरो' का नारा दिया, पापा ने मुजफ्फर नगर रेलवे स्टेशन को आग लगा दी. पुलिस ने घर पर छापा मारा.
पापा फरार होकर आगरा, इलाहबाद और बनारस में भूमिगत रहे, गांधी जी को पत्र लिखा. गांधी जी ने पापा को सेवाग्राम आश्रम में अपने पास बुला लिया. गांधी जी ने पापा को नयी तालीम के काम में लगाया. गांधी जी कहते थे, जैसे आज़ाद भारत में अंग्रेजों का झंडा नहीं चल सकता, वैसे ही आज़ाद भारत में अंग्रेजी शिक्षा भी नहीं चल सकती.

गांधी जी की हत्या के बाद पिता जी रचनात्मक कामों में लग गये, पापा ने नाम के आगे से जाति नाम उड़ा दिया. विनोबा भावे के भूदान और सर्वोदय आन्दोलन में पहली पंक्ति के कार्यकर्ता बने. प्रभावी लेखक, ओजस्वी वक्ता, विचारक, प्रखर कार्यकर्ता, सारे देश में शायद ही कोई ऐसा इलाका होगा जहां पिताजी को लोग न जानते हों. वे चलता-फिरता ज्ञानकोष थे. कोई भी प्रश्न हो,उत्तर हाज़िर.

सुघड़ इतने कि आंख बंद कर के भी अपना सामान उठा सकते थे. घर की सारी महिलाएं रफ़ू का काम पापा से करवाती थीं. उस ज़माने में वो जोरू का गुलाम कहलाते थे, क्योंकि मेरी मां के कपड़े धो देते थे. थक जाने पर पत्नी के पांव भी दबा देते थे.

उत्तर प्रदेश में मंत्री पद मिला. ज़मीन बांटने का महकमा मिला. खुद भूमिहीन ही बने रहे. जीवन में अपना मकान नहीं बनाया. ना बैंक में कोई पैसा. एक चरखा, कुछ अपना काता सूत, कुछ किताबें छोड़ कर आज पापा जिन्हें सब प्रकाश भाई के नाम से जानते थे, चले गये.

मरने से पहले पापा बोल गये थे, मेरा शरीर मरने के बाद मेडिकल कालेज में दे देना.

अलविदा पापा!!😢

---------------------

आगे पढ़ें >>
  Page: 1 | 2 |   Next »    Last