BREAKING NEWS

शिक्षणेत्तर क्रिया - कलाप व्यक्तित्व के सम्पूर्ण विकास का अवसर उपलब्ध कराता है- रवि नंदन सिंह

रविवार, 11 फ़रवरी 2018 | Admin Desk

ज़मानियाँ।(गाजीपुर)।राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई के सप्त दिवसीय शिविर के समापन सत्र के मुख्य अतिथि लोक सेवा आयोग उत्तर प्रदेश इलाहाबाद के विशेषकार्याधिकारी एवं जनसंपर्क अधिकारी तथा हिंदुस्तानी जैसी प्रतिष्ठित पत्रिका के सम्पादक , वरिष्ठ साहित्यकार रविनंदन सिंह ने समापन सत्र को सम्बोधित करते हुए कहा कि युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय की यह योजना 1969 में प्रारम्भ हुई जो आज व्यक्तित्व विकास का सबसे बड़ा मंच है।वस्तुतः व्यक्तित्व विकास के तीन चरण चर्चित हैं -परिवार,समाज, शिक्षा व्यवस्था।इनसे हटकर पशिक्षणेत्तर क्रियाकलापों में राष्ट्रीय सेवा योजना व्यक्तित्व के सम्यक विकास का साधन है। शिविरार्थियों से आपने आगे कहा कि अपने हुनर को तराश लेना ही व्यक्तित्व का विकास है जो आप सात दिन से कर रहे थे उस सीखे हुनर को जीवन में उतारिये ।समस्याएं जीवन में बहुत हैं सकारात्मक तरीका अपनाकर हर समस्या का समाधान पा सकते हैं।अपनी कमजोरियों को कम करके तथा अच्छाई की ताकत को बढ़ाकर जीवन में सफल हो सकते हैं। नंदन जी ने आगे कहा आप भाषा सीखिए उस पर अधिकार कीजिये, सपने पालिए और सेवा भाव रखते हुए मानवतावादी दृष्टि से जीवन में कामयाब होंगें व एन. एस. एस. का उद्देश्य पूर्ण भी पूर्ण हो जाएगा। विशिष्ट अतिथि मणियाहूं , जौनपुर से पधारे शिक्षाविद राजाराम शास्त्री ने जीवन के व्यवहारिक पक्ष पर केंद्रित होते हुए शिविरार्थियों को ईमानदार व सेवाव्रती बनने का संकल्प दिलाया। कार्यक्रम की अध्यक्षता महाविद्यालय प्रबंध समिति के प्रबंधक लछिराम सिंह यादव ने किया उन्होंने कार्यक्रम के सफल संचालन का श्रेय कार्यक्रम सहयोगी राधेश्याम राम व कमलेश प्रसाद तथा कार्यक्रम अधिकारियों को दिया। समापन सत्र में गणमान्यों सहित राजेन्द्र सिंह, नगर पालिका परिषद के वार्ड मेंबर पंकज निगम, अभिषेक कुमार, अवनीश कश्यप, प्रिया यादव, सरस्वती अग्रहरी, प्रीति शर्मा,दुर्गा कुमारी, रीतू विश्वकर्मा, आयुषी दुबे, नमिता सिंह,रितु कुमारी, कुमारी पूजा, नाजिया खातून, ज्योति कुमारी,गुलफसा शहजादी, शब्बो खातून , निधि कुमारी, शबीना खानम,प्रीति राठौर, प्रिया सिंह, सोनी राठौर, निशा यादव आदि ने शिविर जीवन का विस्तृत अनुभव बाँटे। सरस्वती वंदना अनीता जायसवाल, सुनीता जायसवाल ने सरस्वती वंदना /स्वागत गीत प्रस्तुत किया। कार्यक्रम का संचालन वरिष्ठ कार्यक्रम अधिकारी डॉ. अखिलेश कुमार शर्मा शास्त्री ने किया आभार कार्यक्रम अधिकारी डॉ. अरुण कुमार ने व्यक्त किया। सांस्कृतिक कार्यक्रम का निर्देशन चंद्रलोक शर्मा ने किया इनकी टीम के अन्य सदस्य रहे आशुतोष सिंह, राकेश यादव, हरिओम जायसवाल,मुकेश कुमार, बृजेश कुमार,नाटक का मंचन राहुल चंद्र के निर्देशन में हुआ जिसमें पात्र जितेंद्र कुमार, शिव चरण यादव, मोहम्मद हम्जा, मोहम्मद शमीम रहे। शानदार कार्यक्रम के लिए प्रबंधक ने दोनों कार्यक्रम अधिकारी द्वय को ढेरों बधाइयां दीं। शिविर के दौरान कैंपस एम्बेसडर राजन कुमार व बुशरा परवीन की भूमिका सराहनीय रही।

रिपोर्ट:मो ईशा नियाजी

आगे पढ़ें >>
  Page: 1 | 2 | 3 | 4 | 5 | 6 | 7 | 8 | 9 | 10 |   Next »    Last